एशियाई शेरों का गांव सासन गिर

अनुषा मिश्रा 30-03-2023 06:01 PM Adventure
सासन गिर, गिर राष्ट्रीय उद्यान और जूनागढ़ शहर के बीच बफर जोन पर एक गांव है, जो भारत के सबसे अनोखे गांवों में से एक है। नेशनल पार्क के पास होने की वजह से इस गांव में अक्सर वो मेहमान आ जाते हैं जिनसे इंसान और जानवर सब डरते हैं। हम बात कर रहे हैं जंगल के राजा शेर की।
हम में से कई लोग ऐसे होंगे जो यह सोच कर ही डर गए होंगे कि उनके घर के आस पास अगर शेर आ जाये तो वे क्या करेंगे। लेकिन इस गांव के निवासियों के लिए यह एक सामान्य घटना बन गई है। यहां के लोगों का शेर से बचने का बस एक ही मूल मंत्र है कि उससे सुरक्षित दूरी बनाए रखें।

अक्सर आ जाते हैं शेर

सासन गिर गांव एशियाई शेर के अंतिम शेष आवास का प्रवेश द्वार है। गिर नेशनल पार्क 500 से अधिक शेरों का घर है, जो इसे इस लुप्तप्राय प्रजातियों के लिए एक महत्वपूर्ण संरक्षण क्षेत्र बनाता है। अगर आप गिर राष्ट्रीय उद्यान घूमनर जा रहे हैं, तो आपको सासन गिर गांव को अपने प्लान में ज़रूर शामिल करना चाहिए। यह स्थानीय मालधर समुदाय, उनकी संस्कृति और सबसे महत्वपूर्ण बात यह समझने का एक शानदार तरीका है कि वे इन शेरों के इतने करीब कैसे रह रहे हैं। सासन गिर सिद्दी समुदाय का घर भी है। गिद्दी भारत में अद्वितीय समुदायों में से एक हैं क्योंकि ये मुख्य रूप से दक्षिण पूर्व अफ्रीका के बंटू जनजाति के वंशज हैं।

सासन गिर एक अनूठा और महत्वपूर्ण संरक्षण क्षेत्र है जो एशियाई शेरों की आबादी को संरक्षित करने और भारत में इको-टूरिज्म को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

सासन गिर घूमने का सबसे अच्छा समय

सासन गिर गांव और गिर नेशनल पार्क घूमने का सबसे अच्छा समय दिसंबर से मार्च तक सर्दियों में होता है। इस दौरान सासन गिर का मौसम ठंडा और खुशनुमा रहता है। हर साल 16 जून से 15 अक्टूबर के बीच गिर राष्ट्रीय उद्यान के संरक्षित क्षेत्र को बंद कर दिया जाता है। सर्दियों के दौरान सासन गिर का तापमान 15 से 30 डिग्री के बीच रहता है। 

कैसे पहुंचें

केशोद हवाई अड्डा सासन गिर का निकटतम हवाई अड्डा है जो लगभग 85 किमी दूर है। हवाई अड्डे से सासन गिर जाने का सबसे सुविधाजनक तरीका निजी कैब या बस लेना है। हालांकि सासन गिर गुजरात में एक रेलवे स्टेशन है, लेकिन यह देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ नहीं है। आपको राजकोट के लिए ट्रेन पकड़नी होगी, जहां से आपको यहां तक पहुंचने के लिए टैक्सी लेनी होगी।

आसपास घूमने लायक जगहें

सासन गिर गांव के पास ऐसी जगहें हैं जहां आप घूमने जा सकते हैं।

गिर नेशनल पार्क

सासन गिर में गिर राष्ट्रीय उद्यान है, जो एशियाटिक शेरों की घटती संख्या के लिए दुनिया का एकमात्र राष्ट्रीय उद्यान है। आप यहां आएं तो गिर राष्ट्रीय उद्यान घूमेंगे ही। वन्य जीवन, पक्षियों, रोमांच और एडवेंचर में रुचि रखने वालों के लिए गिर में सबसे मजेदार चीज़ वन्य जीवन की एक झलक पाने के लिए जंगल सफारी है। 

सोमनाथ मंदिर

12 ज्योतिर्लिंगों में से एक सोमनाथ ज्योतिर्लिंग भी इसके पास में ही है। सोमनाथ का शाब्दिक अर्थ है 'चंद्रमा का स्वामी'। सासन गिर से लगभग 50 किमी दूर स्थित, यह एक ऐसा शहर है जिसकी पौराणिक कथाएं, धर्म और कहानियां इसे अपनी अनूठी पहचान देती हैं। 

उपरकोट किला

गुजरात के जूनागढ़ जिले में स्थित उपरकोट किला, मौर्य साम्राज्य का अवशेष है और सासन गिर से लगभग 80 किलोमीटर दूर है। यह गुजरात के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है और भारत के सबसे पुराने किलों में से एक है। सासन गिर के पास अन्य पर्यटन स्थलों में दरबार हॉल संग्रहालय और नलसरोवर झील शामिल हैं।

आपके पसंद की अन्य पोस्ट

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

इश्क़ = मॉनसून, घुमक्कड़ी और भोपाल

भोपाल में ऐसा बहुत कुछ है जो बारिश के मौसम में घूमने के लिए बेस्ट है।

लेटेस्ट पोस्ट

अयोध्या को खूबसूरत बनाने वाली 10 शानदार जगहें

आप बिना ज़्यादा सोच-विचार किए झट से वहां जाने की तैयारी कर लें।

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

जोगेश्वरी गुफा: मंदिर से जुड़ी आस्था

यहां छोटी-बड़ी मिलाकर तमाम गुफाएं हैं जिनमें अजंता-एलोरा की गुफाएं तो पूरे विश्व में अपनी शानदार वास्तुकला के चलते प्रसिद्ध हैं।