कोरोना में चिड़ियों से अंखियां लड़ाना

टीम ग्रासहॉपर 07-04-2020 04:19 PM Adventure
क्या चल रहा है इन दिनों? कहने का मतलब, क्वारंटीन में आप किस तरह दिन बिताते हैं। क्वारंटीन के वक्त आप बाहर के लोगों से नहीं मिल रहे होंगे। पर क्या आपने ध्यान दिया इन सबके बीच कुछ मेहमान ऐसे भी हैं, आपके द्वारा तय की गई इन बंदिशों का नहीं मानते और रोज घर का मुआयना करने चले आते हैं। मुमकिन है आपको इन मेहमानों से मुलाकात पसंद आएगी क्योंकि कई दिनों से घर में रहते हुए अलग-अलग खिड़कियों से दिखने वाला नजारा अब याद हो गया होगा, लॉन में टहलते हुए चिड़ियों का झुंड दिखता होगा, छत पर शाम को टहलते हुए अगर आसमान में नजर गई होगी, तो नीड़ की ओर लौटती पक्षियों की कतार अभी भी जेहन में ताजा होगी।

चिड़ियों के बारे में बढ़ाएं जानकारी

grasshopper yatra Image

मोर, तोता, गौरेया और कबूतर जैसे पक्षियों के बारे में तो आप बखूबी जानते हैं लेकिन इस जानकारी को अब बढ़ाने का समय आ गया है। आसमान से शिकार पर नजरें गड़ाए बाज, मधुर गीत सुनाती कोयल, अपने रंगों से आकर्षित करता नीलकंठ या फिर अपनी अदाओं पर इतराता हुदहुद। ऐसे न जाने कितने पक्षी हैं, जिन्हें शहर और गांव में आसानी से देख सकते हैं और उन्हें नोटिस कर सकते हैं। साथ ही वर्क फ्रॉम होम के समय काम करने के दौरान व खाली समय में खिड़की के बाहर देखते हुए आप अपना क्वालिटी टाइम इन चिड़ियों को देखते हुए बिता सकते हैं। इन्हें बारे में नोटिस करते हुए आप आपने आस-पास के वातावरण में नएपन का अहसास करेंगे, जहां आप कुछ नया सीख रहे हैं फिर चाहे ब्रीडिंग सीजन में घोंसले से झांकते बच्चे हों या माइग्रेट करके आए पक्षी हों। यह शौक घर पर रहकर आस-पड़ोस की का नजारा लेते हुए टूरिस्ट बनने जैसी फीलिंग देता है।

एंजाइटी दूर भगाएगा यह शौक

grasshopper yatra Image

घर में अकेले रहते हुए या वह वक्त जब लंबे समय तक आप समाज से कट जाएं तो एंजाइटी होना मुमकिन है। इस माहौल के चलते जो लोग एंजाइटी के शिकार हैं, उनके लिए बर्डिंग का शौक बेहद लाभकारी साबित हो सकता है। इसके अलावा यह शौक सचेत, सावधान और याद रखने की क्षमता जैसी दिमागी कसरस करवाता है। आपके दिमाग में दौड़ रहे एक जैसे विचार या फिर किसी खास विचार से ब्रेक दिलाएगा। कुछ नहीं तो इसी बहाने आप आपने आस-पास मौजूद चीजों की तारीफ करने लगेंगे, जिन्हें भागती हुई जिंदगी में आप मिस कर गए थे। सबसे खास बात, जब क्वारंटीन का दौर खत्म होगा तो आपके अंदर एक नया शौक जन्म ले चुका होगा, जो भविष्य में ट्रैवलिंग के दौरान काम आएगा। एक ही जगह पर कई बार घूमने जा चुके हैं। ऐसे में अगर किसी नई जगह जाने की इच्छा पैदा होती है तो इन नई जगहों को एक्सप्लोर करने में बर्डिंग का शौक सबसे ज्यादा मददगार साबित होता है। यह आपको ऑफ बीट रास्तों पर ले जाएगा, जहां लोकल लोगों से रूबरू होने का मौका मिलेगा।   

ऐसे करें शुरुआत

grasshopper yatra Image

दुनिया के सबसे आसान कामों में एक है बर्डर बनना। आपको बस अपने आस-पास पेड़ की टहनियों पर बैठी, स्ट्रीटलाइट पर, बाल्कनी पर, घर के गार्डन या लॉन पर, आसमान में उड़ती या फिर बिजली के तारों पर आराम करती चिड़ियों पर नजर दौरानी है और उन्हें सावधानीपूर्वक नोटिस करना शुरू करना है। इस तरह आप बनते हैं बर्डर। इसके लिए आपको किसी तरह के खास इक्युपमेंट की जरूरत भी नहीं होती। इन्हें देखने के लिए आंख और सुनने के लिए कान खुले रखिए। हां, एक अच्छी दूरबीन आपके इस शौक को और मजेदार जरूर बना सकती है। दूरबीन से आप सूरज की रोशन में चमकते उनके खूबसूरत पंख, उनकी बनावट या फिर नुकीली चोंच करीब व बेहतर ढंग से देख पाते हैं। पहले के समय में बर्डर चिड़ियों के बारे में जानने के लिए गाइड्स से लेकर पिक्चर के साथ लिखी गई छोटी किताब, ड्रॉइंग व डिटेल में जानकारी देने वाले लेखों का इस्तेमाल किया करते थे लेकिन अब आपके हाथ में मौजूद स्मार्ट फोन एक क्लिक में सारी जानकारी देता है। इसके अलावा कई ऐसे ऐप हैं जो चिड़ियों के बारे में विस्तार में जानकारी देते हैं। ऐसे में आप जो भी चिड़िया देखें उसके रंग, आकार, व्यवहार और आवाज के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

बर्डिंग के जरिए करें सही समय की पहचान

grasshopper yatra Image

यूं तो आप किसी भी दिन में किसी भी समय चिड़ियों को देख सकते हैं लेकिन महत्वपूर्ण समय है, जब आप उनकी अधिक एक्टिविटीज को देख सकें। जैसे कि सुबह के समय चिड़िया सबसे ज्यादा एक्टिव होती हैं, खासकर गर्मियों के समय। इसके अलावा शाम को सूरज ढलते समय जब वह अपने घोंसलों की ओर लौटती हैं। यूं तो बर्डिंग के समय आप सबसे ज्यादा आंखों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इस दौरान उनकी चहचहाट या उनकी आवाज को सुनना न भूलें क्योंकि हर चिड़िया की चहचाहट में अलग खनक होती है। अक्सर ऐसा होता है कि चिड़िया को देखने से पहले आप उसे सुनते हैं। अगर बाहर घूमते हुए आप चिड़िया को देखते हैं तो पहले उसे वहां के परिवेश में आश्वस्त होने का समय दें फिर धीरे-धीरे उसकी ओर बढ़ें। चिड़िया के नजदीक जाने के दौरान उसकी हरकतों पर नजर बनाएं रखें। पेड़, घर की बाल्कनी, छज्जा, बिजली की तार या फिर खंभे वो जगहें हैं, जहां आप इन्हें आसानी से देख सकते हैं। वहीं दिन के समय आप आपके ऊपर से गुजरने वाली चीड़ियां व उनकी बनने वाली खास परछाई देख सकते हैं, जो अपने आप में एक रोमांच का अनुभव कराती हैं।

इस सहर की सुबह होने के बाद

grasshopper yatra Image

एकाकीपन का यह समय जल्द ही खत्म होगा और जैसे ही यह जिंदगी फिर से समान्य होगी और ट्रैक पर दौड़ने लगेगी तो अपने इस नए शौक के बारे में लिखना न भूलिएगा। हो सकता है इस तरह आपको नए लोगों से मिलने का मौका मिले। अपने आस-आप की चीजों को सराहिए और जब आप किसी नई ट्रैवल डेस्टिनेशन पर जाएंगे तो उसे देखने के लिए अब आपके पास एक नया चश्मा और नया व्यू होगा। जब बाहर निकलना सेफ हो जाए तो आप लोकर बर्डिंग ग्रुप सा किसी संगठन के साथ जुड़ सकते हैं। उसने साथ बर्ड वॉक पर जा सकते हैं और विभिन्न चिड़ियों के बारे में अपने अनुभव साझा कर सकते हैं। एक अच्छा बर्डर बनने के लिए जरूरी है कि चिड़ियों में दिलचस्पी रखने वाले अनुभवी लोगों के साथ अधिक वक्त बिताएं। ये आपको चिड़ियों के बर्ताव और खासियत के बारे में वो सब जानकारी दे सकते हैं जिन्हें आप मिस कर गाए हों। सबसे खास बात भारत में हर चीज के साथ कहानी जुड़ी होती है, कौन जाने कोई मजेदार कहानी आपका भी इंतजार कर रही हो।

समय है एक कदम आगे सोचने का

grasshopper yatra Image

चिड़िया को जानकर एक बर्डर बन जाना ही आपकी मंजिल नहीं है। अब अगर आप यहां तक आ ही गए हैं तो यह सही समय है एक कदम आगे सोचने का। चिड़ियों ने इतना कुछ दिया है तो उनके लिए भी कुछ कर सकते हैं। अगर आपने चिड़ियों के बारे में पर्याप्त जानकारी जुटा ली है तो उनपर रिसर्च भी शुरू कर सकते हैं और बर्डिंग को लेकर होने वाले बड़े आयोजनों में शिरकत करें। ताकि आपको अपने इस मेहमान की वर्तमान स्थिति के बारे में भी पता चल सके। कहीं ऐसा तो नहीं है कि रोज आपका मन बहलाने वाले ये मेहमान किसी तरह के संकट का सामना कर रहे हों। उन्हें बचाने या फिर उनकी संख्या बढ़ाने के लिए समाजसेवी संस्था की भी मदद ले सकते हैं। इसके अलावा हालात सामन्य होने के बाद आप जब भी किसी नई जगह घूमने जाएं तो वहां के लोकल पक्षियों के बारे में जरूर रिसर्च करें। यह आपको अलग अनुभव कराएगा या फिर अगली बार जब घर में वॉक पर निकलें तो अपने ईयरपीस कमरे में ही छोड़ दें और अनुभव करें कुदरत की इस खूबसूरत नेमत का जहां चहचाहट का माधुर्य है और और पंखों पर सजे इंद्रधनुषी रंगों को देखने का सुख।

बर्डिंग के टिप्स

  • चिड़ियों का पीछा करने के दौरान इस चीज का विशेष ख्याल रखें कि कहीं आप ऐसी जगह तो नहीं घुस रहे हैं, जहां किसी बाहरी का प्रवेश निषेध हो।
  • चिड़ियों के नजदीक जाते समय नियमित दूरी बनाए रखें। ऐसा न हो कि आप उसके इतने नजदीक चलें कि वह डर कर उड़ जाएं और पूरा मजा किरकिरा हो जाए।
  • पक्षियों के घोंसलों के ज्यादा नजदीक न जाएं। कई बार लोग रोमांच की धुन में उसके घोंसले या फिर उसमें रखे अंड्डों, बच्चों को नुकसान पहुंचा देते हैं।
  • शाम के समय अगर आप लंबी बर्डिंग के लिए निकले हैं तो साथ में मच्छर, मक्खी व अन्य कीटों से बचाव की जरूर व्यवस्था कर लें।

आपके पसंद की अन्य पोस्ट

अगर आपको भी है बंजी जंपिंग का शौक? ये जगहें हैं बेस्ट

ऋषिकेश का मोहनचट्टी गांव में जंपिंग हाइट्स नाम की जगह है जो बंजी जंपिंग के लिए काफी फेमस है।अगर आपने अभी तक इसे ट्राई नहीं किया तो आइए यहां

यहां आकर लीजिए एडवेंचर स्पोर्ट्स का मजा

अगर आप भी मानते हैं कि डर के आगे ही जीत है और नई-नई एक्टिविटीज करने का शौक रखते हैं तो ये जगहें आपके लिए ही हैं।

लेटेस्ट पोस्ट

अयोध्या को खूबसूरत बनाने वाली 10 शानदार जगहें

आप बिना ज़्यादा सोच-विचार किए झट से वहां जाने की तैयारी कर लें।

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

जोगेश्वरी गुफा: मंदिर से जुड़ी आस्था

यहां छोटी-बड़ी मिलाकर तमाम गुफाएं हैं जिनमें अजंता-एलोरा की गुफाएं तो पूरे विश्व में अपनी शानदार वास्तुकला के चलते प्रसिद्ध हैं।