जल्द शुरू होगी अमरनाथ यात्रा, सुरक्षा के इंतजाम पूरे

अनुषा मिश्रा 09-07-2020 12:57 PM News
कोरोना वायरस से फैली महामारी की वजह से हर साल होने वाली अमरनाथ यात्रा पर रुकावटें लगती नजर आ रही थीं लेकिन अब ये यात्रा जल्द ही शुरू होने वाली है। हालांकि, प्रशासन पूरी तरह से अहतियात बरत रहा है। सैनिटाइजेशन का काम पूरा कर लिया गया है। इस बार गुफा में भगवान शिव के दर्शन करने के लिए भी हर दिन सिर्फ 500 यात्रियों को ही अनुमति दी जाएगी। 
अमरनाथ और वैष्णो देवी तीर्थस्थलों की तीर्थयात्रा के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्रियों जी किशन रेड्डी, जितेंद्र सिंह और गृह मंत्रालय और जम्मू और कश्मीर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने एक उच्च स्तरीय बैठक की। अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से शुरू होने की संभावना है। बैठक के बाद बताया गया कि इस वर्ष की तीर्थयात्रा सीमित तरीके से आयोजित की जाएगी। 
अधिकारियों के मुताबिक, सिर्फ एक रास्ते से ही श्रद्धालुओं को जाने दिया जाएगा। बर्फ जमी होने की वजह से पहलगाम के रास्ते को अभी तक साफ नहीं किया जा सका है। ऐसे में इस साल बालटाल के रास्ते से ही श्रद्धालु दर्शन के लिए जा सकते हैं। हालांकि, इस पर आखिरी फैसला अगले हफ्ते लिया जाएगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित हुई इस बैठक में जम्मू और कश्मीर के उप राज्यपाल जीसी मुर्मू, मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम, जम्मू और कश्मीर के संभागीय आयुक्तों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

आपके पसंद की अन्य पोस्ट

अब आसानी से घूम सकेंगे वियतनाम, भारतीयों के लिए नई सेवा शुरू

फु क्वोक में आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को अच्छी चीजों का अनुभव करने के लिए 30-दिन की वीजा छूट दी जा रही है।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

लेटेस्ट पोस्ट

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

विश्व पर्यटन दिवस विशेष : आस्था, श्रद्धा और विश्वास का उत्तर...

मैं इतिहास का उत्तर हूं और वर्तमान का उत्तर हूं…। मैं उत्तर प्रदेश हूं।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

लॉकडाउन में हो रहे हैं बोर तो करें ऑनलाइन इन म्यूजियम्स की सैर

कोरोना महामारी के बाद घूमने फिरने की आजादी छिन गई है लेकिन आप चाहें तो घर पर बैठकर भी इन म्यूजियम्स की सैर कर सकते हैं।