दिल्ली में बन गया है पहला आउटडोर म्यूजियम, बहुत कुछ है देखने लायक

अनुषा मिश्रा 12-08-2023 07:43 PM News

भारत के पहले आउटडोर म्यूजियम, शहीदी पार्क का हाल ही में दिल्ली में उद्घाटन किया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने कुछ दिन पहले पार्क का उद्घाटन किया था, जिसे दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) ने 4.5 एकड़ जमीन पर बनाया है। इस जगह पर मौजूद कलाकृतियां आपको प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक भारतीय इतिहास की झलक दिखाएंगी. रिपोर्ट्स की मानें तो इस पार्क को वेस्ट टू आर्ट थीम के तहत छह महीने में 700 कारीगरों के साथ 10 कलाकारों ने तैयार किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पार्क को बनाने के लिए लगभग 250 टन स्क्रैप का इस्तेमाल किया गया है।

क्या है खास?

यह पार्क भारत के राष्ट्रीय नायकों को समर्पित है, और इसमें उन प्रसिद्ध हस्तियों को शामिल किया गया है जिन्होंने देश की स्वतंत्रता और संप्रभुता के लिए अपना जीवन लगा दिया। 4.5 एकड़ क्षेत्र में फैले इस पार्क में कई प्रकार के आकर्षण हैं जो देश की समृद्ध ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत को दिखाते हैं। पार्क में सुंदर मोटिफ्स और स्मारक भी हैं जो हमारे देश को आकार देने वाली महत्वपूर्ण घटनाओं और ऐतिहासिक अवधियों की याद दिलाते हैं। 

grasshopper yatra Image

यह पार्क यहां आने वाले पर्यटकों के लिए एक मनोरंजक जगह के रूप में काम करेगा, जहां वे आकृतियों और मूर्तियों के जरिये अतीत में झांक सकते हैं। इसे एमसीडी की वेस्ट टू आर्ट पहल के तहत आईटीओ क्षेत्र में विकसित किया गया है। बिजली के खंभे, पुराने ट्रक, कार, एंगल आयरन और रिक्शा जैसी चीजें स्क्रैप से बनाई गई हैं। इस पार्क में इन स्थापनाओं के ज़रिये भारत के गौरवशाली इतिहास को दर्शाया गया है।

grasshopper yatra Image

इस पार्क का एक अन्य आकर्षण इसकी भव्य योजना है, जिसमें हमारे राष्ट्र की एकता, विविधता और संघर्ष के तत्व शामिल हैं। पार्क को सुंदर बनाने के लिए, लगभग 56,000 पेड़ और पौधे जैसे चंपा, फाइकस, कचनार और सिंगोनियम सहित अन्य पौधे लगाए गए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पार्क को लगभग 15 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किया गया है। आगंतुकों को बेहतर मनोरंजक अवसर प्रदान करने के लिए एक फ़ूड कियोस्क और सोवेनियर शॉप भी है। 93 2-डी मूर्तियों और 20 3-डी मूर्तियों सहित 3 गैलरी और 9 सेट विकसित किए गए हैं।


टिकट की कीमतें क्या हैं? 

पार्क में प्रवेश टिकट वयस्कों के लिए 100 रुपये और बच्चों के लिए 50 रुपये तय किया गया है। आप टिकट ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं. पार्क में प्रवेश बहादुर शाह जफर मार्ग से होगा, जहां विज़िटर्स कोटला किले के सामने वाली सड़क पर निर्धारित जगह पर अपने वाहन पार्क कर सकते हैं।


आपके पसंद की अन्य पोस्ट

अब आप एयर इंडिया के एक टिकट से घूम सकेंगे लगभग पूरा यूरोप

एयर इंडिया के यात्री एक ही टिकट पर कई देशों और 100 से अधिक यूरोपीय शहरों में घूम सकेंगे।

अब मेघालय घूमना नहीं होगा आसान, सरकार से लेनी होगी परमिशन

मेघालय घूमने का प्लान बना रहे हैं, टिकट बुकिंग से लेकर सारी तैयारियां हो रही हैं तो आपको एक जरूरी बात याद करा दें, मेघालय सरकार ने पर्यटकों के लिए एक निर्देश दिया है जो कि आपको ज़रूर जानना चाहिए।

लेटेस्ट पोस्ट

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

विश्व पर्यटन दिवस विशेष : आस्था, श्रद्धा और विश्वास का उत्तर...

मैं इतिहास का उत्तर हूं और वर्तमान का उत्तर हूं…। मैं उत्तर प्रदेश हूं।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

लॉकडाउन में हो रहे हैं बोर तो करें ऑनलाइन इन म्यूजियम्स की सैर

कोरोना महामारी के बाद घूमने फिरने की आजादी छिन गई है लेकिन आप चाहें तो घर पर बैठकर भी इन म्यूजियम्स की सैर कर सकते हैं।