इन बातों का ध्यान रखकर लें एडवेंचर स्पोर्ट्स का मजा

अनुषा मिश्रा 29-02-2020 06:26 PM Tips
एडवेंचर का शौक किसे नहीं होता। ट्रैवलिंग और एडवेंचर का शौक एक साथ हो तो यह एक्सपीरिएंस जिंदगी भर के लिए यादगार हो जाता है। एडवेंचर स्पोर्ट्स का चलन देश में तेजी से बढ़ रहा है। यह देखने में जितना रोमांचक नजर आता है उतना ही खतरनाक भी है, लेकिन एडवेंचर स्पोर्ट्स के साथ अगर कुछ जरूरी टिप्स याद रखें तो आप इसका लुत्फ आसानी से उठा सकते हैं।

राफ्टिंग: सुरक्षा का रखें पूरा ख्याल

यह एडवेंचर स्पोर्ट में राफ्टिंग का अपना अलग ही क्रेज है। यह काफी खतरनाक खेल है। राफ्टिंग हमेशा ऐसे पानी में होती है, जिसका बहाव तेज होता है, इसलिए पानी की तेज धार में संतुलन बनाए रखना बेहद जरूरी होता है। राफ्टिंग करते वक्त सुरक्षा जैकेट और हेलमेट जरूर पहनें। यही नहीं, जैकेट का चुनाव करते वक्त यह चेक कर लें कि यह आपके वजन के हिसाब से फिट है या नहीं। जैकेट हमेशा टाइट पहनें। पानी में उतरने से पहले गाइड की बातों को ध्यान से सुनें। राफ्टिंग के दौरान आपके बैठने और पैडल की सही पोजीशन बहुत मायने रखती है। इसके बारे में गाइड से पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। राफ्टिंग के समय गाइड के अनुसार ही सही समय पर पैडल चलाएं, इससे बोट को सही दिशा में ले जाने में मदद मिलती है। अगर तेज बहाव के दौरान आप बोट से गिर जाते हैं तो इस स्थिति में कभी भी घबराएं नहीं। अगर आपने सही जैकेट पहनी है तो यह आपकी जान बचाने में पूरी तरह से मददगार साबित होगी। ऐसी स्थिति में अपना मुंह हमेशा आसमान की तरफ रखें और हाथ और पैरों का इस्तेमाल आगे बढ़ने के लिए करें। पानी में गिरने के बाद अपनी बोट की तरफ बढ़ने की कोशिश करें। साथ ही गाइड की ओर से फेंकी गई रस्सी को पकड़कर नाव की ओर बढ़ें।

रॉक क्लाइम्बिंग: एक चूक पड़ सकती है भारी

पहाड़ों और चट्टानों पर चढ़ने वाले स्पोर्ट को क्लाइम्बिंग कहते हैं। यह एक बेहद ही खतरनाक एडवेंचर स्पोर्ट है। रॉक क्लाइम्बिंग में आपकी जरा सी चूक काफी महंगी पड़ सकती है। इसलिए इसे करने से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए। सबसे पहले अपने उपकरणों को जरूर जांच लें, इसके साथ ही उनकी मजबूती का भी आकलन कर लें। रॉक क्लाइम्बिंग में रस्सी में गांठ लगाना भी एक कला है, इसके बारे में जानकारी होना जरूरी है। क्लाइम्बिंग शुरू करने से पहले गांठ की जांच कर लें। हेलमेट अच्छे से बंधा होना चाहिए। वहीं रस्सी की लंबाई भी इतनी होनी चाहिए कि आप नीचे से ऊपर तक आसानी से पहुंच सकें। चढ़ाई करते वक्त कभी भी अपना ध्यान भटकने न दें। इस बात का ध्यान रखें कि आप ऊपर चढ़ने के लिए चट्टान के जिस हिस्से को पकड़ रहे हैं या पैर रख रहे हैं उसका आधार मजबूत हो। अच्छी पकड़ के लिए ग्ल्व्स पहनें। आपकी रस्सी की क्लिप्स अच्छे से लगी होनी चाहिए। बेहतर सुरक्षा के लिए एंकर मजबूती से लगाना चाहिए।

राफ्टिंग: सुरक्षा का रखें पूरा ख्याल

यह एडवेंचर स्पोर्ट में राफ्टिंग का अपना अलग ही क्रेज है। यह काफी खतरनाक खेल है। राफ्टिंग हमेशा ऐसे पानी में होती है, जिसका बहाव तेज होता है, इसलिए पानी की तेज धार में संतुलन बनाए रखना बेहद जरूरी होता है। राफ्टिंग करते वक्त सुरक्षा जैकेट और हेलमेट जरूर पहनें। यही नहीं, जैकेट का चुनाव करते वक्त यह चेक कर लें कि यह आपके वजन के हिसाब से फिट है या नहीं। जैकेट हमेशा टाइट पहनें। पानी में उतरने से पहले गाइड की बातों को ध्यान से सुनें। राफ्टिंग के दौरान आपके बैठने और पैडल की सही पोजीशन बहुत मायने रखती है। इसके बारे में गाइड से पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। राफ्टिंग के समय गाइड के अनुसार ही सही समय पर पैडल चलाएं, इससे बोट को सही दिशा में ले जाने में मदद मिलती है। अगर तेज बहाव के दौरान आप बोट से गिर जाते हैं तो इस स्थिति में कभी भी घबराएं नहीं। अगर आपने सही जैकेट पहनी है तो यह आपकी जान बचाने में पूरी तरह से मददगार साबित होगी। ऐसी स्थिति में अपना मुंह हमेशा आसमान की तरफ रखें और हाथ और पैरों का इस्तेमाल आगे बढ़ने के लिए करें। पानी में गिरने के बाद अपनी बोट की तरफ बढ़ने की कोशिश करें। साथ ही गाइड की ओर से फेंकी गई रस्सी को पकड़कर नाव की ओर बढ़ें।

रॉक क्लाइम्बिंग: एक चूक पड़ सकती है भारी

पहाड़ों और चट्टानों पर चढ़ने वाले स्पोर्ट को क्लाइम्बिंग कहते हैं। यह एक बेहद ही खतरनाक एडवेंचर स्पोर्ट है। रॉक क्लाइम्बिंग में आपकी जरा सी चूक काफी महंगी पड़ सकती है। इसलिए इसे करने से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए। सबसे पहले अपने उपकरणों को जरूर जांच लें, इसके साथ ही उनकी मजबूती का भी आकलन कर लें। रॉक क्लाइम्बिंग में रस्सी में गांठ लगाना भी एक कला है, इसके बारे में जानकारी होना जरूरी है। क्लाइम्बिंग शुरू करने से पहले गांठ की जांच कर लें। हेलमेट अच्छे से बंधा होना चाहिए। वहीं रस्सी की लंबाई भी इतनी होनी चाहिए कि आप नीचे से ऊपर तक आसानी से पहुंच सकें। चढ़ाई करते वक्त कभी भी अपना ध्यान भटकने न दें। इस बात का ध्यान रखें कि आप ऊपर चढ़ने के लिए चट्टान के जिस हिस्से को पकड़ रहे हैं या पैर रख रहे हैं उसका आधार मजबूत हो। अच्छी पकड़ के लिए ग्ल्व्स पहनें। आपकी रस्सी की क्लिप्स अच्छे से लगी होनी चाहिए। बेहतर सुरक्षा के लिए एंकर मजबूती से लगाना चाहिए।

आपके पसंद की अन्य पोस्ट

यात्रा के दौरान प्रदूषण को कम करने के 10 टिप्स

10 ऐसे तरीके जिनसे आप अपनी यात्रा के दौरान प्रकृति को नुकसान पहुंचाने से बच सकते हैं और एक ज़िम्मेदार यात्री बन सकते हैं।

मोशन सिकनेस: कहीं आपके सफर का मजा किरकिरा न कर दे

घूमने का शौक हो मगर यात्रा के दौरान सिर दर्द और चक्कर आना यानि मोशन सिकनेस की भी दिक्कत हो तो थोड़ी परेशानी तो होती ही है।

लेटेस्ट पोस्ट

अयोध्या को खूबसूरत बनाने वाली 10 शानदार जगहें

आप बिना ज़्यादा सोच-विचार किए झट से वहां जाने की तैयारी कर लें।

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

जोगेश्वरी गुफा: मंदिर से जुड़ी आस्था

यहां छोटी-बड़ी मिलाकर तमाम गुफाएं हैं जिनमें अजंता-एलोरा की गुफाएं तो पूरे विश्व में अपनी शानदार वास्तुकला के चलते प्रसिद्ध हैं।