इंडोनेशिया देगा 5 साल का डिजिटल वीजा, स्टेकेशन करने वालों का होगा फायदा

अनुषा मिश्रा 16-06-2022 03:19 PM News
कोरोना के आने के बाद से कई कंपनियां वर्क फ्रॉम होम को वरीयता दे रही हैं। अभी तक लोग वेकेशन में ही कहीं घूमने जाते थे, लेकिन अब एक नया टर्म स्टेकेशन भी चल रहा है। यानि जिन लोगों को वर्क फ्रॉम होम मिला है, वे अब किसी एक टूरिस्ट डेस्टिनेशन पर जाकर महीनों रुक रहे हैं और इसे नाम दे रहे हैं स्टेकेशन। कई देशों के यात्रा और पर्यटन विभाग भी यात्रियों को रिमोट-वर्क-फ्रॉम-होम यानी स्टेकेशन देकर अपने यहां आने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। इन्हीं में अब इंडोनेशिया का भी नाम जुड़ गया है जो लोगों को पांच साल के वीजा के साथ डिजिटल वर्क की सुविधा दे रहा है।

इंडोनेशिया अब घर से काम करने वाले लोगों के लिए एक नया वीजा कार्यक्रम शुरू कर रहा है। जिससे आप बाली में लंबे समय तक रह सकते हैं और घूमने के साथ-साथ काम का भी मजा ले सकते हैं। ये देश जल्द ही पांच साल के लिए डिजिटल वीजा शुरू करने जा रहा है। यहां सरकार ने क्वारंटीन रूल तो हटा ही दिया है, इसके लिए यात्रा से जुड़े जो प्रतिबन्ध थे, वे भी हटा लिए गए हैं। अब जब कई दिग्गज कंपनियां वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दे ही रही हैं तो इंडोनेशिया का ये नया डिजिटल वीजा प्रोग्राम स्टेकेशन करने वालों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। 

इस नए वीजा प्रोग्राम पर इंडोनेशियाई पर्यटन मंत्री सैंडियागा ऊनो का कहना है कि खेल आयोजन, पांच साल का वीजा कार्यक्रम और इकोलॉजिकल टूरिज्म घर से काम करने वाले लोगों के लिए शुरू किया जा रहा है। इनसे लगभग 3.6 मिलियन (लगभग 36 लाख) अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों को यहां वापस लाने में मदद मिलेगी। "इससे इंडोनेशियाई लोगों के लिए 10 लाख (10 लाख) से अधिक नौकरियां शुरू करने में मदद मिलनी चाहिए,"। सरकार ने कहा इंडोनेशिया को छोड़कर किसी अन्य देश से अगर आप कमा रहे हैं, तो आपको यहां किसी भी तरह के टैक्स के भुगतान से छूट दी जाएगी। ये कदम लोगों को काफी आकर्षित करेगा।


आपके पसंद की अन्य पोस्ट

अब आसानी से घूम सकेंगे वियतनाम, भारतीयों के लिए नई सेवा शुरू

फु क्वोक में आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को अच्छी चीजों का अनुभव करने के लिए 30-दिन की वीजा छूट दी जा रही है।

कर्नाटक टूरिज्म की पहल, कैम्परवैन में करिए राज्य की सैर

पर्यटक लग्जरी मोबाइल वैन में कर्नाटक के कुछ फेमस टूरिस्ट प्लेसेज घूम सकते हैं।

लेटेस्ट पोस्ट

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

विश्व पर्यटन दिवस विशेष : आस्था, श्रद्धा और विश्वास का उत्तर...

मैं इतिहास का उत्तर हूं और वर्तमान का उत्तर हूं…। मैं उत्तर प्रदेश हूं।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

लॉकडाउन में हो रहे हैं बोर तो करें ऑनलाइन इन म्यूजियम्स की सैर

कोरोना महामारी के बाद घूमने फिरने की आजादी छिन गई है लेकिन आप चाहें तो घर पर बैठकर भी इन म्यूजियम्स की सैर कर सकते हैं।