तूफानी करने से पहले इन बातों का रखें ख्याल

श्रृंखला पाण्डेय 18-02-2020 01:37 PM Tips
कुछ टाइम पहल एक वीडियो खूब वायरल हुआ, जिसमें पैराग्लाइडिंग कर रहा एक शख्स अपने इंस्ट्रक्टर को लैंड कराने के लिए मिन्नतें करता नजर आया था। इस दौरान युवक ने खुद का तो मजाक बनवाया ही, साथ ही पैराग्लाइडिंग की परेशानियों की ओर भी लोगों का ध्यान खींचा। अगर आप एडवेंचर के शौकीन हैं और कुछ तूफानी करने की तमन्ना रखते हैं तो कुछ बातों का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। मुश्किल हालातों में जरूरी टिप्स आपकी जान बचाने में मददगार साबित हो सकते हैं।

मौसम के मिजाज को समझें

पैराग्लाइडिंग करते समय अगर आप इंस्ट्रक्टर के साथ उड़ान भरने जा रहे हैं तो सबसे पहले उससे मन में उठने वाले सारे सवालों के जवाब पूछ लें। ऐसा इसलिए भी जरूरी है क्योंकि उड़ान के दौरान आपके मन में कोई दुविधा नहीं रहेगी। अगर आप अकेले पैराग्लाइडिंग कर रहे हैं तो हालिया मौसम के बारे में जरूर जान लें। आमतौर पर पहाड़ी क्षेत्रों में मौसम का मिजाज बेहद ही तेजी से बदलता है। अगर बदली या बूंदाबादी की आशंका हो तो उड़ान कतई न भरें। हवा के दौरान दिशा बदलने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। कई बार हवाएं हमें उस दिशा में ले जाती हैं, जहां आप नहीं जाना चाहते।

grasshopper yatra Image

सही गैजेट्स बचाएंगे जान

एक और बेहद महत्वपूर्ण बात यह है कि उड़ान से पहले अपने पैराशूट की अच्छे से जांच कर लें। जिस तरह नाव में छेद होना जान को खतरे में डाल देता है, वैसे ही खराब पैराशूट आपकी उड़ान को अनियंत्रित कर देगा। पैराग्लाइडिंग करते समय अहम है कि आप सही गैजेट्स अपने साथ रखें। उड़ान से पहले हेलमेट, घुटने और कोहनी के पैड्स, बूट, गॉगल, जीपीएस या वॉकी-टॉकी, धारदार चाकू जरूर रखें। यह उपकरण उड़ान के दौरान कठिन परिस्थितियों में जिंदगी बचाने में बेहद मददगार होते हैं। साथ ही पैराग्लाइडिंग से पहले स्थानीय प्रशासन को इंफॉर्म करना जरूरी है।

स्कूबा डायविंग: रोमांच न बने जानलेवा

समंदर के नीचे की दुनिया हमेशा से ही इंसानों के लिए रोमांचक होता है। इसी के चलते भारत में भी स्कूबा डायविंग काफी तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। यह देखने में जितना आसान लगता है असलियत में उतना ही मुश्किल है।

grasshopper yatra Image

साइन लैंग्वेज का रखें ख्याल

पानी में नीचे जाने पर माहौल बिलकुल बदल जाता है। अक्सर ज्यादातर लोग पानी में नीचे जाने पर घबराहट महसूस करने लगते हैं। यह पूरी तरह से नॉर्मल भी है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि स्कूबा डायविंग से पहले इंस्ट्रक्टर के सभी निर्देशों को अच्छे से समझ लें। पानी के अंदर आप बोल नहीं सकते इसलिए आपको हर बात इशारों (साइन लैंग्वेज) में समझनी और समझानी पड़ती है, ऐसे में इंस्ट्रक्टर की ओर से सिखाई गई साइन लैंग्वेंज का पूरा ख्याल रखें। स्कूबा डायविंग से पहले समंदर के नीचे रहने वाली स्पीशीज के बारे में जानकारी रखना जरूरी है, क्योंकि कई समुद्री जीवों के करीब जाना जान को जोखिम में डालने के बराबर है। स्कूबा डायविंग केवल अच्छे तैराकों के लिए ही है, अगर आप सही से तैरना नहीं जानते तो स्कूबा डायविंग से दूर रहें। एक खास बात का ख्याल रखें कि देश में पीएडीआई एफिलिएटेड डाइविंग इंस्टीट्यूट के बगैर स्कूबा डाइविंग नहीं की जा सकती, इसलिए अपने इंस्ट्रक्टर से इस बात की पुष्टि कर लें।

आपके पसंद की अन्य पोस्ट

ट्रेकिंग करते समय ध्यान रखें ये बातें

ट्रेकिंग करते समय कुछ बातों को ध्यान में रखना बहुत ज़रूरी है, चाहे आप अनुभवी हों, शुरुआती हों या अकेले ट्रेकर हों।

भारत में हैं ये जंगल ट्रैक, एडवेंचर के शौकीनों के लिए जन्नत से कम नहीं

हम आपको बताने जा रहे हैं देश के ऐसे ही कुछ जंगलों के बारे में जहां आप खूब मजे कर सकते हैं।

लेटेस्ट पोस्ट

अयोध्या को खूबसूरत बनाने वाली 10 शानदार जगहें

आप बिना ज़्यादा सोच-विचार किए झट से वहां जाने की तैयारी कर लें।

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

जोगेश्वरी गुफा: मंदिर से जुड़ी आस्था

यहां छोटी-बड़ी मिलाकर तमाम गुफाएं हैं जिनमें अजंता-एलोरा की गुफाएं तो पूरे विश्व में अपनी शानदार वास्तुकला के चलते प्रसिद्ध हैं।