ट्रेकिंग करते समय ध्यान रखें ये बातें

अनुषा मिश्रा 28-08-2023 05:35 PM Tips

ट्रेकिंग आजकल बहुत ज़्यादा ट्रेंड में है। चाहे घूमने के पुराने शौक़ीन हों या नया-नया एक्स्प्लोर करना शुरू किया हो, हर किसी को ट्रेकिंग करना पसंद आ रहा है। आलम तो ये है कि लोगों ने अपने-अपने शहरों में भी ट्रेकिंग स्पॉट्स ढूंढ लिए हैं। हालांकि, आज भी ज़्यादातर लोगों को ये नहीं पता है कि ट्रेकिंग के दौरान क्या सावधानियां बरतनी चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। ट्रेकिंग करते समय कुछ बातों को ध्यान में रखना बहुत ज़रूरी है, चाहे आप अनुभवी हों, शुरुआती हों या अकेले ट्रेकर हों। हमने थीम को 3 अलग-अलग हिस्सों में बांटा है:

1) हिमालय के क्षेत्र और कुछ ट्रेक जिन्हें आप देख सकते हैं 

2) ट्रैकिंग के नियम 

3) ट्रैकिंग के लिए क्या न करें?

1) हिमालय की खोज:


  • लेह: स्टॉक कांगड़ी, चादर ट्रेक 
  • कश्मीर: कश्मीर ग्रेट लेक्स, टार्सर मार्सर 
  • उत्तराखंड: रूपकुंड, भ्रामताल, पंगारचूला, कुआरी दर्रा 
  • हिमाचल : करेरी झील, भृगु झील 
  • सिक्किम: गोएचाला, संदक्फू
  • उत्तर पूर्व: अज्ञात, यह एक अनुभवी ट्रेकर के लिए एक अच्छी जगह है, नौसिखिया के लिए नहीं।

grasshopper yatra Image

2. ट्रेकिंग के दौरान ये सावधानियां बरतें

मौसम का ध्यान रखें: जिन तारीखों पर आप अपने ट्रेक की योजना बना रहे हैं, उनके मौसम के पूर्वानुमान की हमेशा जांच करें ताकि आप उसके अनुसार तैयारी कर सकें।

पानी: पहाड़ों में पानी सबसे ज़रूरी चीजों में से एक है। इसके बिना, आप कुछ दिनों तक भी जीवित नहीं रह पाएंगे इसलिए ज़्यादा पानी खरीदने और बचाने की कोशिश करें। 

बिजली: बिजली गिरने की स्थिति में अपने आप को जितना संभव हो उतना सिकोड़ कर रखने की कोशिश करें, पेड़ों से दूर रहें और अपने कानों को ढक लें क्योंकि इससे आप बहरे हो सकते हैं

जानवर: अगर अकेले ट्रैकिंग कर रहे हैं तो पगमार्क के बारे में थोड़ा जानने की कोशिश करें। अंजानी पगडंडियों से बचने का प्रयास करें और केवल प्रमुख पगडंडियों पर ही चलें। 

भोजन: यदि अकेले या दोस्तों के साथ अकेले जा रहे हैं, तो अच्छा खाना पकाने का प्रयास करें और केवल मैगी पर जीवित न रहें, क्योंकि आपके शरीर को विशेष रूप से पहाड़ों में बहुत अधिक प्रोटीन और फैट की ज़रूरत होती है। 


ज़्यादा चढ़ें और कम सोएं: हमेशा थोड़ा आगे चलें ताकि आपका शरीर अधिक ऊंचाई का अभ्यस्त हो जाए, फिर कुछ मीटर पीछे आएं और अपना तंबू गाड़ दें। 


अनुकूलन करें: अपनी स्पीड तय करते हुए धीमी गति से चढ़ें और कभी-कभी ब्रेक भी लें। हर दिन 4 से 5 लीटर पानी ज़रूर पियें.


प्राथमिक चिकित्सा: ट्रेकिंग करते समय छोटी-मोटी चोट लगने का खतरा रहता है इसलिए फर्स्ट ऐड बॉक्स अपने साथ रखें।

grasshopper yatra Image

3. क्या न करें:

पेशाब करना: कभी भी अपने टेंट के पास पेशाब न करें और न ही खाना फेंकें क्योंकि इससे जानवर आकर्षित हो सकते हैं और कोई घटना हो सकती है। 

दवा: अनुकूलन के लिए कभी भी डेक्सामेथासोन दवा न लें। 


बड़ी जलधाराएँ: अपना तंबू कभी भी बड़ी जलधाराओं या नदियों के करीब न लगाएं क्योंकि यह जानवरों को आकर्षित कर सकता है या आपके तंबू में अचानक बाढ़ भी आ सकती है


ऊंचाई: एक दिन में कभी भी 2500 फीट से अधिक न चढ़ें; इससे माउंटेन सिकनेस हो सकती है।


तंबू लगाना: कभी भी अपना तंबू किसी पहाड़ी पर न लगाएं क्योंकि यहां बहुत तेज हवा चल सकती है और यह आपके तंबू को उड़ा सकती है। इसके अलावा, सूखे पेड़ों से दूर रहने की कोशिश करें क्योंकि वे किसी भी समय आपके तंबू पर गिर सकते हैं।

आपके पसंद की अन्य पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

इन बातों का ध्यान रखकर लें एडवेंचर स्पोर्ट्स का मजा

एडवेंचर स्पोर्ट्स जितना रोमांचक नजर आते हैं उतना ही खतरनाक भी है, लेकिन एडवेंचर स्पोर्ट्स के साथ अगर कुछ जरूरी टिप्स याद रखें तो आप इसका लुत्फ आसानी से उठा सकते हैं।

लेटेस्ट पोस्ट

अयोध्या को खूबसूरत बनाने वाली 10 शानदार जगहें

आप बिना ज़्यादा सोच-विचार किए झट से वहां जाने की तैयारी कर लें।

इतिहास का खजाना है यह छोटा सा शहर

यहां समय-समय पर हिंदू, बौद्ध, जैन और मुस्लिम, चार प्रमुख धर्मों का प्रभाव रहा है।

लक्षद्वीप : मूंगे की चट्टानों और खूबसूरत लगूंस का ठिकाना

यहां 36 द्वीप हैं और सभी बेहद सुंदर हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 10 द्वीप ही ऐसे हैं जहां आबादी है।

नए साल का जश्न मनाने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन्स

वन्यजीवन के बेहतरीन अनुभवों से लेकर संस्कृति, विरासत और प्रकृति तक, इन जगहों में सब कुछ है।

पॉपुलर पोस्ट

घूमने के बारे में सोचिए, जी भरकर ख्वाब बुनिए...

कई सारी रिसर्च भी ये दावा करती हैं कि घूमने की प्लानिंग आपके दिमाग के लिए हैपिनेस बूस्टर का काम करती है।

एक चाय की चुस्की.....एक कहकहा

आप खुद को टी लवर मानते हैं तो जरूरी है कि इन सभी अलग-अलग किस्म की चायों के स्वाद का मजा जरूर लें।

घर बैठे ट्रैवल करो और देखो अपना देश

पर्यटन मंत्रालय ने देखो अपना देश नाम से शुरू की ऑनलाइन सीरीज। देश के विभिन्न राज्यों के बारे में अब घर बैठे जान सकेंगे।

जोगेश्वरी गुफा: मंदिर से जुड़ी आस्था

यहां छोटी-बड़ी मिलाकर तमाम गुफाएं हैं जिनमें अजंता-एलोरा की गुफाएं तो पूरे विश्व में अपनी शानदार वास्तुकला के चलते प्रसिद्ध हैं।